सोमवार, 17 मार्च 2008

प्रसिद्धि पाने के आसान व असुरक्षित उपाय !

क्या आपको प्रसिद्धि पाना है । दुनिया मैं अपने नाम का परचम लहराना हो । या जनता को अपने होने का अहसास दिलाना हो । बस क्या है कोई असयांमित या अमर्यादित कार्य को या मजाक मजाक मैं कोई विवादित बात कह दो । अर्थात विवादित बातो को अंजाम दो और विवादों मैं रहो । आप अपने रूचि के अनुसार कोई भी आइडल मामला चुन सकते हो। जैसे मीका व राखी , मटुकनाथ व जुली , बिग बॉस मैं शिल्पाशेत्टी या फिर नया नया राज ठाकरे का मामला। ये ऐसे कार्य है जिसमे परिश्रम व मेहनत कम लगती है और कम समय मैं खोई हुई प्रसद्धि व शोहरत मिल जाती है । इसमे मीडिया को विश्वाश मैं लिया जाना निहायत जरुरी है वही तो है जो आपकी शोहरत को जन जन तक पहुचायंगे । इस बात से कोई मतलब नही होना चाहिए की ऐसे कार्य से देश व समाज पर क्या प्रभाव पड़ेगा । हमे तो बस प्रसद्धि पाना है वह भी आशां व असुरक्षित साधन अपनाकर। जब मामला बढ़ने लगे तो अपनी बात का दूसरा मतलब निकालकर बताओ । ज्यादा ख़राब नौबत आये तो बयान से पीछे पलट जाओ और माफी मांग लो । या यह कहकर की मीडिया ने मेरी बात को तोड़ मरोड़कर पेश किया है और मामले से पल्ला झाड़ लो। यदि बात नही बनती है तो आपको कोर्ट या जेल जाने के लिए तैयार होना पड़ेगा । हाँ एक बात है की जब तक केस चलेगा आपका नाम लिया जाएगा । इससे से आपकी प्रसिद्धि लंबे समय तक बनी रहेगी , हो सकता जीवन पर्यंत , कोर्ट मैं केस जो सालो साल चलते है। तथाकथित समाज व धर्मं के ठेकेदार या कोई राजनेतिक अतिवादी संगठन आपके विरुद्ध प्रदर्शन व तोड़फोड़ की कार्यवाही कर सकता है। जान से मरने की धमकी भी मिल सकती है। इससे आपकी प्रसद्धि मैं और इजाफा होगा । आप अपने साथ घर , परिवार , दोस्त भाई व पड़ोस को भी प्रसिद्धि पाने का मौका दे सकते है । उनका टीवी व समाचार पत्रों मैं फोटो सहित साक्षात्कार जो आयेगा। आपके मौहल्ले व शहर का नाम भी रोशन होगा। तो देर किस बात की उठो , जागो और अपनाओ प्रसिद्धि पाने के इन आसान व असुरक्षित उपायों को और देश व दुनिया मैं छा जाओ ।