बुधवार, 25 जून 2008

सेना मैं सेलरी का बढ़ाना एक अच्छा कदम है !

सेना मैं अपने वेतन को लेकर काफी दिनों से असंतोष और आक्रोश चला आ रहा था , साथ ही सेना के जवानो का मनोबल भी गिरते चला आ रहा था । उसी के चलते सेना से काबिल अधिकारीयों के व्ही आर अस लेने के मामले बढ़ रहे थे । कठिन परिस्थितियों मैं उनकी सेवाओ और जोखिम को देखते हुए सेना के जवानों और अधिकारीयों का वेतन देश की सिविल सर्विस की अपेक्षा काफ़ी कम था । बढती मंहगाई और जरूरतों को देखते हुए सैन्य सर्विस के इतर देश की अन्य सर्विस मैं वेतन और सुबिधाओं को अ च्छा खासा बढाया जाता रहा है । सेना के प्रति इसी प्रकार के उपेक्षित व्यवहार को देखते हुए देश के युवाओं का रुझान सैन्य सेवा के प्रति कम होता जा रहा है ।
सरकार द्वारा सैन्य अधिकारीयों और कर्मचारियों के आक्रोश और सिविल सर्विस और सैन्य सर्विस के बीच के असंतुलन को कम करने का एक सराहनीय प्रयास किया गया है । इससे निःसंदेह सेना मैं वेतन को लेकर पनप रहे असंतोष मैं कमी आएगी और सैन्य कर्मचारियों के मनोबल मैं भी बढोतरी होगी ।
जिन लोगों के हाथ मैं देश की सीमाओं और देश के अन्दर जान माल की सुरक्षा का जिम्मा है , जिनके सतर्क चौकसी और सेवा से देश के लोग अपने को सुरक्षित महसूस करते हुए चैन की नींद सोते है , जो अपने घर परिवार से दूर रहकर एकांत और दुरूह जीवन जीते है , जान हथेली पर लेकर अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों का कर्मठता से निर्वहन कर रहे हैं । उन सैन्य कर्मचारियों और अधिकारियों के साथ उपेक्षित सा व्यवहार किया जाना उचित नही है ।
आवश्यक है की इनकी समस्यायों और आवश्यकताओं पर प्रमुखता से ध्यान देते हुए उनका उचित निराकरण जाना किया चाहिए । उन पर आश्रित परिवारों हेतु भी सभी आवश्यक सुबिधायों को उपलब्ध कराया जाना चाहिए । अतः देश की सेवा मैं लगे नौजवानों की अन्य समस्यायों के निराकरण के प्रति देश की सरकार को इसी प्रकार गंभीरता दिखाना चाहिए और सभी आवश्यक सुबिधायों मुहैया कराना चाहिए ताकि देश के सैनिक सम्मान और गर्व के साथ अपनी सेवा दे सके और इन्हे देखते हुए देश के अन्य युवा भी सैन्य सेवा मैं शामिल होने हेतु प्रेरित हो सके ।

2 टिप्‍पणियां:

kush ने कहा…

बढ़िया कदम है..

अल्पना वर्मा ने कहा…

sena mein salaries hamesha se hi behtar hoti hain--

govt ko Police walon ki salary bhi sena walon ki salary ke barabaar karni chaheeye--mujhe bahut Tarah aata hai bharat ki police par-shayad sab se jyada kaam wohi karti hai--[police walon se mera koi vyaktigat sambandh nahin hai- -sena se jarur mera salon ka rishta hai is liye main sena ke baare mein khuub jaanti hun-]umeed hai koi police force ke baaremein bhi sochey--