रविवार, 12 मार्च 2017

पर रंगो की होली खेलें जम से ।

💦न कार धोये पानी के नल से , न पानी नहाये शावर के जल से ।
💥पर रंगो की होली खेलें जम से ।
💦न कुएं खत्म हो घर आँगन से , न तालाब घटे खेत खलिहान  से ।
💥पर रंगो की होली खेलें जम से ।
💦न बहे बारिश का पानी शहरों से , न शहर गांव पटे सीमेंट से ।
💥पर रंगो की होली खेलें जम से ।
💦न पानी बर्बाद हो कारखानो के दोहन से , न पानी प्रदूषित हो उधोगों के विषाक्त जल से ।
💥पर रंगो की होली खेलें जम से ।
💦न जंगल खत्म हो औधोगिकरण से , वन बचे माफियाराज के चुंगल से ।
💥पर लकड़ी की होली जले जम से ।
💦न ईर्ष्या न नशा न हुड़दंग से , मनाएं यह होली सुख शांति और उमंग से ।
💥पर रंगो की होली खेलें जम से ।
🎊शुभ ,समृद्ध , वैभवपूर्ण और अनिष्ट दहन होली की बहुत मंगलकामनाएं और बधाइयाँ ।
💐🙏दी. कु. भानरे एवं परिवार ।

कोई टिप्पणी नहीं: