गुरुवार, 22 जुलाई 2021

#सेल्फी जरा लेना !


मौसम हो रहा है #कातिल ,

और दिल है उफान पर,
सेल्फी जरा लेना ,
होश अपने संभाल कर ।
फिसलन भरी है राहें ,
अरमां भी है आसमान पर ,
उतरना जरा कहीं भी ,
कदम अपने #संभाल कर ।
लगने लगे जब आलम ,
सुहाना दिलों जान पर,
#तस्वीरों की जगे तमन्ना ,
हंसी यादों के नाम पर ।
हो जाये कैद यादें ,
तस्वीरों के सामान पर ,
#परवाह बचे बिकने से ,
खुराफातों की दुकान पर ।
#खैरियत का हो ख्याल ,
चंद खुशियों के दाम पर ,
बन जाये कहीं न दुश्मन ,
खुद अपने ही जान पर ।
मौसम बन रहा है कातिल ,
अरमां भी है आसमान पर,
सेल्फी जरा लेना ,
होश अपने संभाल कर ।

1 टिप्पणी:

RaviKant Soni ने कहा…

बहुत बढ़िया सर जी :-)